ख़ाकी वर्दी......

Jan 5, 2009

ख़ाकी शब्द फ़ारसी भाषा के ख़ाक शब्द से बना है जिसका मतलब है धूल या मिट्टी. इसके पीछे बड़ी रोचक कहानी है. सन 1846 में सर हैरी लम्सडैन ने फ़्रन्टियर सेवा की मदद के लिए पेशावर में एक गाइड दल बनाया. इनके लिए ढीले-ढाले कपड़े बनवाए गए जो मटमैले रंग के थे. जब 1857 में गदर हुआ तो बहुत सी ब्रिटिश रैजिमैंटों ने अपनी गर्मियों की सफ़ेद पोशाक को ख़ाकी रंग में रंग लिया. अब तक इस रंग के फ़ायदे समझ में आने लगे थे कि यह जल्दी गंदी नहीं होती इसलिए 1880 तक इस क्षेत्र में अधिकांश रैजिमैंटों ने अपनी पोशाकें ख़ाकी रंग में रंगवानी शुरू कर दीं. यहाँ तक कि 1899 में दक्षिण अफ़्रीका में हुई ऐंग्लो बोर लड़ाई में भी ब्रिटिश सेना ने ख़ाकी पोशाक अपनाई. उधर अमरीका में 1898 में हुई स्पेनी अमरीकी लड़ाई में अमरीकी सेना ने ख़ाकी वर्दी अपनाई और एक समय ऐसा आया जब दुनिया के कई देशों की सेना और पुलिस दल की वर्दी का रंग ख़ाकी हो गया.
*B.B.C.

1 comments:

Amit said...

बहुत सही जानकारी दी ...इसी तरह लिखते रहे...