सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी (विज्ञान) भाग 2

Oct 25, 2010

प्रश्न ११ पक्षी जब आकाश में उड़ता है, तो बिना पंख चलाये भी दूर तक उड़ता रहता है , इसका कारण क्या है?

उ० उसकी गति में संवेग होता है

प्रश्न १२ सड़क मोड़ पर एक तरफ कुछ ऊंची बनायीं जाती है, क्यों?

उ० अभिकेन्द्र बल प्राप्त करने के लिए

प्रश्न १३ एक लिफ्ट में एक तराजू के दोनों पलड़ों में बराबर भार के पत्थर पड़े हुए है , लिफ्ट के चालू होने पर क्या प्रभाव होगा ?

उ० कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा

प्रश्न १४ एक वाच ग्लास में आयोडीन का विलयन रखा हुआ है, इसके अंदर आलू का टुकड़ा काटकर रख दिया गया है. आलू के टुकड़े की सतह का रंग कैसा हो जायेगा ?

उ० नीला

स्पस्टीकरण: आलू की टुकड़े को काटने पर उसकी सतह पर उपस्थित स्टार्च आयोडीन के विलयन से मिलकर नीला रंग उत्पन्न करता है |

प्रश्न १५ पित्त किससे निकलता है?liver

उ० यकृत से        

प्रश्न १६ होम्योपैथी का संस्थापक कौन था ?

उ० हनीमैन

प्रश्न १७ विटामिन्स की खोज किसने की ?

उ० फंक ने

प्रश्न १८ डी.एन.ए. (D.N.A.) के सामान्य तत्व कौन कौन से हैं?

उ० नाईट्रोजीनस बेस, फास्फेट एवं शुगर

प्रश्न १९ किसी स्वच्छ तालाब का पानी इतना गहरा प्रतीत नहीं होता, जितना की वास्तव में गहरा होता है, क्यों ?

उ० विरल माध्यम से सघन माध्यम में प्रकाश की किरण के आवर्तन के कारण होता है |

प्रश्न २० मनुष्य में हीमोग्लोबिन के अणु से आक्सीजन के कितने अणु बंध सकते हैं?

उ० चार

5 comments:

Ashish Shrivastava said...

प्रश्न ११ पक्षी जब आकाश में उड़ता है, तो बिना पंख चलाये भी दूर तक उड़ता रहता है , इसका कारण क्या है?

उ० उसकी गति में संवेग होता है


उपर दिया उत्तर आंशिक सत्य है ! चील जैसे पक्षी थर्मल (गर्म हवा की धारा) पर सवार होकर ग्लाइड(glide ) करना शुरू कर देते है जिससे उन्हे पंख फड़फड़ाने की जरुरत नही होती है !

Udan Tashtari said...

अच्छी जानकारी और आशीष का जोड़ भी जानकरी बढ़ा गया.

आशीष मिश्रा said...

nice information

राहुल प्रताप सिंह राठौड़ said...

@Ashish Shrivastava,

बहुत बहुत धन्यवाद,
एक नयी जानकारी प्राप्त हुई |

राज भाटिय़ा said...

प्रश्न ११ पक्षी जब आकाश में उड़ता है, तो बिना पंख चलाये भी दूर तक उड़ता रहता है , इसका कारण क्या है?
ओर पंखो को वो हवा के समान ऊपर नीचे करता हे (फ़ड फ़डाता नही), जेसे हवाई जहाज भी इन्ही पक्षियो को देख कर बना हे.
बहुत ही सुंदर जानकारी, धन्यवाद