Nov 3, 2008

आज जो कुछ हो रहा है, वो देश के लिए कतई अच्छा नही हो रहा है अरे राज हकारे का तो दिमाग ख़राब हो गया है ,नही तो वह इतना भूल गया कि मराठों कि शान शिवाजी को उत्तर भारतीयों ने आंखों पे बिठा रखा था लेकिन राज ठाकरे में अकेले इतना दम कहाँ, उसके पीछे जरूर किसी का हाथ है, और वो हाथ जो हमेशा गरीब जनता के साथ होने का दाबा करता फिरता है अरे भाई अगर देश की बेरोजगारी हटाने के लिए आन्दोलन किया जाए तो मराठियों की समस्या तो स्वतः ही हल हो जायेगी हमें बिहार ही नही महाराष्ठ की भी सुननी है लालू जी खाई और ज्यादा बढाने से उसे पाटने के लिए मिट्टी ज्यादा डालनी पड़ेगी कांग्रेश को क्षेत्रबादमें ना पड़कर राष्ट्राबाद को आगे रखना होगा और अंत में समाजबादी पार्टी में कितने गुंडे है इसका पता कल और लग गया,अरे सार्वजनिक रूप से राज ठाकरे की सुपारी, जी हाँ पूरे १ करोर

0 comments: